Physical Features of India |भारत की भौतिक विशेषताएं

कक्षा 9 के geography syllabus में एक आवश्यक topic ‘भारत की भौतिक विशेषताएं (physical features of india)’ है। इसमें भारत के मानचित्र की भौतिक विशेषताओं (physical features of India map) में प्रदर्शित देश की भूवैज्ञानिक संरचना का सावधानीपूर्वक अध्ययन शामिल है। यह भारत की अंतर्निहित भूवैज्ञानिक संरचना (geological structure of India) पर प्रकाश डालता है और यह भी बताता है कि इसे इतना विविध और अलग क्या बनाता है।

physical features of india भारत की भौतिक विशेषताएं

इस Article में, हमने प्रत्येक sub-topic के कुछ important points पर प्रकाश डाला है जो आपके संशोधन में Help करेंगे!

Table of Contents

Introduction of Physical Features of India |भारत की भौतिक विशेषताओं का परिचय

भारत न केवल सांस्कृतिक रूप से बल्कि भौगोलिक रूप से भी एक विविध देश है। पहाड़ों (mountains), मैदानों (plains) और पठारों (plateaus) से लेकर द्वीपों (islands) और रेगिस्तानों (deserts) तक, भारत की भौतिक विशेषताएं (physical features of india) बहुत विशाल और विविध हैं।

इन विविध विशेषताओं के निर्माण को ‘प्लेट टेक्टोनिक्स के सिद्धांत’ ‘principles of plate tectonics’ के लिए जिम्मेदार ठहराया जा सकता है, जिसमें कहा गया है कि इन प्लेटों की गति (speed of plates) के परिणामस्वरूप महाद्वीपीय चट्टानों और ज्वालामुखी गतिविधि में तह और दोष हुआ। यह 3 प्रकार के प्लेट आंदोलनों (3 types of plate movements) के कारण हुआ:

  • विभिन्न (Divergent)
  • संमिलित (Convergent)
  • परिवर्तन (Transform)

Physical Divisions of India |भारत के भौतिक विभाग

जब physical features of india की बात आती है, तो देश को geologist और physical division के आधार पर विभाजित किया जा सकता है। जबकि पूर्व में प्रायद्वीपीय ब्लॉक (peninsular block) , इंडो गंगा-ब्रह्मपुत्र मैदान (Indo Ganga-Brahmaputra Plain) और हिमालय (Himalaya) शामिल हैं। फिजियोग्राफिक डिवीजनों में 6 प्रमुख डिवीजन (6 Major Divisions in Physiographic Divisions) हैं:

  • हिमालय पर्वत (The Himalayan Mountains)
  • उत्तरी मैदान (The Northern Plains)
  • प्रायद्वीपीय पठार (The Peninsular Plateau)
  • भारतीय रेगिस्तान (The Indian Desert)
  • तटीय मैदान (The Coastal Plains)
  • द्वीप (The Islands)
physical features of map of india
credit: Leverage Edu

The Himalayan Mountains |हिमालय पर्वत

हिमालय पर्वतीय अवरोध हैं जो North India की सीमाओं तक फैले हुए हैं। ये दुनिया के सबसे ऊबड़-खाबड़ और सबसे ऊंचे पहाड़ों में से एक हैं और पृथ्वी के प्रमुख भू-आकृतियों में से एक हैं। हिमालय एक arc बनाता है जो 2,400 km की दूरी तय करता है। हिमालय मुख्य रूप से तीन समानांतर श्रेणियों से मिलकर बना है जो कि divided हैं:

Great or Inner Himalaya or ‘Himadri’ | महान या आंतरिक हिमालय या ‘हिमाद्री’

बारहमासी बर्फ (perennial snow) से ढके, महान हिमालय में सबसे ऊंची चोटियाँ हैं। हिमाद्री की औसत ऊँचाई 6,000 मीटर है और इसमें सभी प्रमुख Himalayan peaks शामिल हैं। यह Most prominent physical features of India में से एक है।

Himachal or Lesser Himalayas | हिमाचल या लघु हिमालय

पर्वत श्रृंखला के अधिक ऊबड़-खाबड़ parts को अक्सर कम हिमालय या हिमाचल के रूप में जाना जाता है। हिमाचल अपने hill stations के लिए भी व्यापक रूप से जाना जाता है। इन पर्वतमालाओं की औसत ऊंचाई 3700 से 4500 मीटर है। पीर पंजाली सबसे लंबी रेंज है।

Outer Himalaya Range or Shivalik | बाहरी हिमालय रेंज या शिवालिक

ये comparatively निचली रेंज हैं, जिनकी ऊंचाई 900 से 1,100 मीटर के बीच है। इनमें असंगठित तलछट (unorganized sediment) शामिल हैं जो हिमाद्री पर्वतमाला से नदियों द्वारा नीचे लाई जाती हैं।

• लघु हिमालय और शिवालिकों के बीच स्थित अनुदैर्ध्य घाटी (longitudinal valley) को दून (Dun) के नाम से जाना जाता है। Dehradun, Kotli Dun और Patli Dun कुछ famous dun हैं।

हिमालय को भी पश्चिम से पूर्व के क्षेत्रों के आधार पर विभाजित किया गया है:

  • Indus और satluj के बीच स्थित हिमालय के parts को पारंपरिक रूप से पंजाब हिमालय (punjab Himalayas) के रूप में जाना जाता है, लेकिन इसे क्षेत्रीय रूप से क्रमशः West से East की ओर Kashmir और Himachal Himalayas के रूप में भी जाना जाता है।
  • सतलुज और काली नदियों के बीच स्थित हिमालय के parts को कुमाऊं हिमालय के नाम से जाना जाता है।
  • काली और तिस्ता नदियाँ नेपाल हिमालय का सीमांकन (demarcation) करती हैं और तिस्ता और दिहांग नदियों के बीच स्थित भाग को असम हिमालय के रूप में जाना जाता है।
  • ब्रह्मपुत्र हिमालय की सबसे पूर्वी सीमा का प्रतीक है।

The Northern Plains |उत्तरी मैदान

तीन प्रमुख नदी प्रणालियों (river systems), सिंधु, ब्रह्मपुत्र और गंगा के परिणामस्वरूप उत्तरी मैदान का निर्माण हुआ है। 7 lakh sq km में फैला यह जलोढ़ मिट्टी (Alluvium) का एक विशाल Area है।

उत्तरी मैदान को 3 भागों में बांटा गया है: (The Northern Plain is divided into 3 parts:)

  • northern plains के western part को पंजाब का मैदान कहा जाता है।
  • सिंधु और उसकी सहायक नदियाँ- झेलम, चिनाब, रावी, ब्यास और satluj Himalaya से निकलती हैं।
  • गंगा का मैदान Ghaggar और Teesta rivers के बीच फैला हुआ है।
  • यह अपने पूर्व में North India, Haryana, Delhi, Uttar Pradesh, Bihar, आंशिक रूप से Jharkhand और West Bengal राज्यों में फैला हुआ है, विशेष रूप से असम में ब्रह्मपुत्र का मैदान है।

उत्तरी योजनाओं (northern plains) के संदर्भ में भारत की भौतिक विशेषताओं (physical features of india) का विवरण नीचे दिया गया है:

उत्तरी मैदानों की राहत सुविधाएँ (Relief Features of Northern Plains)विवरण ( description)
भाबर (Bhabar)यह बोल्डर और कंकड़ की एक संकीर्ण 8 KM से 16 KM चौड़ी रेंज है। यह Shivalik या outer himalayan range की तलहटी में है। इसमें धाराएँ लुप्त हो जाती हैं। 
खादर (Khadar)मैदानी भाग का अधिक fertile भाग, इस area में जलोढ़ मिट्टी(Alluvium) के नए और छोटे deposit शामिल हैं।
भंगार (Bhangar)यह उत्तरी मैदान का biggest part है, जो पुरानी जलोढ़ मिट्टी से बना है। यह एक छत जैसी structure बनाता है जो बाढ़ के मैदानों के ऊपर स्थित है। यहाँ की मिट्टी में “कंकड़” नामक चूने का जमाव (lime deposition) होता है।
तराई (Terai)तराई क्षेत्र गीला (Wet) और दलदली (swampy) है। यह नदियों द्वारा फिर से उभरने पर बनाया जाता है। घने जंगलों वाला दुधवा नेशनल पार्क (Dudhwa National Park) यहीं स्थित है।

The Peninsular Plateau | प्रायद्वीपीय पठार

प्रायद्वीपीय पठार भारत की भौतिक विशेषताओं (peninsular plateau, physical features of India) को परिभाषित करता है। यह मुख्य रूप से पुरानी आग्नेय (igneous), क्रिस्टलीय (crystalline) और कायांतरित चट्टानों (metamorphic rocks) से बना है और यह सबसे पुराने भूभागों में से एक है। पठारों के तीन प्रमुख भाग मध्य हाइलैंड्स (middle highlands), दक्कन पठार (Deccan Plateau) और पूर्वोत्तर पठार (northeastern plateau) हैं।

सेंट्रल हाइलैंड्स | central highlands

मालवा पठार (Malwa Plateau) के प्रमुख क्षेत्र में फैले हुए, central highlands नर्मदा नदी के उत्तर में स्थित हैं। यदि आप physical features of map of india को करीब से देखें, तो आप पाएंगे कि ये उच्चभूमि पूर्व में संकरी (narrow) और पश्चिम में चौड़ी (wide) हैं।

दक्कन का पठार | Deccan Plateau

दक्कन का पठार (Deccan Plateau) एक triangular भूभाग का एक विस्तृत आधार बनाता है जो नर्मदा नदी के South में पड़ता है। Satpura Range, Kaimur Hills और macaque range, जो इसका पूर्वी विस्तार बनाती है, जैसा कि भारत के नक्शे की भौतिक विशेषताओं में देखा जा सकता है। इसके अलावा, slope धीरे-धीरे East की ओर बढ़ता है।

पूर्वोत्तर पठार | northeastern plateau

इसे Meghalaya/Karbi-Anglong Plateau/N-Central Chachar Hills भी कहा जाता है, यह मुख्य प्रायद्वीपीय पठार (peninsular plateau) का विस्तार है।

पश्चिमी घाट (Western Ghats)पूर्वी घाट (Eastern Ghats(
पश्चिमी घाट पश्चिमी तट के समानांतर स्थित हैं।पूर्वी घाट महानदी घाटी से दक्षिण में Nigiris तक फैला है
इनकी औसत ऊंचाई 900-1600 मीटर . हैइनकी औसत ऊंचाई 600 मीटर . है
पूर्वी घाट बंगाल की खाड़ी में गिरने वाली नदियों द्वारा unbalanced और Irregular और dissected हैंपश्चिमी घाट घाट के पश्चिमी ढलानों के साथ उठने वाली moist winds का सामना करके geographic rainfall का कारण बनते हैं।
सबसे ऊंची चोटियों में अनाई मुडी (2,695 मीटर) और डोडा बेट्टा (2,637 मीटर) शामिल हैं।महेंद्रगिरि (1,501 मीटर) पूर्वी घाट की सबसे ऊंची चोटी है

Imp Facts: जिस Point पर Eastern और Western Ghats मिलते हैं, उसे डेक्कन ट्रैप (deccan trap) कहा जाता है। प्रकृति में ज्वालामुखीय (volcanic) होने के कारण, इसमें काली मिट्टी (black soil) और आग्नेय चट्टानें (igneous rocks) हैं।

The Indian Desert | भारतीय रेगिस्तान

  • Indian desert का संपूर्ण विस्तार अरावली पहाड़ियों (physical features of map of india में सीमांकित) के western margins पर स्थित है।
  • यह रेतीले मैदानों और टीलों से आच्छादित है, इस Area में every year 150 mm से कम वर्षा होती है।
  • इसलिए, minimum vegetation cover है। यहां बहने वाली सबसे बड़ी नदी लूनी (luni) है।

The Coastal Plains |तटीय मैदान

तटीय मैदान अरब सागर और बंगाल की खाड़ी के पार भूमि के संकीर्ण खंड हैं। जैसा कि भारत के मैप की भौतिक विशेषताओं पर देखा गया है, दक्षिणी भाग में तटीय मैदानों को मोटे तौर पर कोंकण, कन्नड़ मैदान और मालाबार तट में विभाजित किया गया है।

पूर्वी तरफ, बंगाल की खाड़ी के पार, मैदानों को आगे उत्तरी सरकार और कोरोमंडल तट में वर्गीकृत किया गया है। नीचे tabular western और East Coast Plains के बीच कुछ प्रमुख Difference हैं:

पश्चिमी मैदान (Western Plains)पूर्वी मैदान (Eastern Plains)
संकीर्ण (Narrow)विस्तृत (Broad)
जलमग्न मैदान (Submerged Plain)उभरा हुआ मैदान (Emerged Plain)
नदियाँ यहाँ डेल्टा नहीं बनाती हैं (Rivers don’t form Deltas here)अच्छी तरह से विकसित डेल्टास (Well Developed Deltas)

The Islands | द्वीप

भारत में mainly दो प्रमुख द्वीप समूह (islands) शामिल हैं, अरब सागर में लक्षद्वीप द्वीप समूह (Lakshadweep Islands) और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह (Andaman and Nicobar Islands). अंडमान द्वीप समूह में 204 छोटे द्वीप शामिल हैं। इसके अलावा, A&N द्वीपों को 10-degree channels द्वारा विभाजित किया गया है।

द्वीपों के समूह को दो भागों में बांटा गया है: (The group of islands is divided into two parts:)

  • उत्तर में अंडमान (Andaman in the North)
  • दक्षिण में निकोबार (Nicobar in the South)

ये द्वीप भूमध्य रेखा (island Equator) के करीब हैं, घने जंगल हैं और भूमध्यरेखीय जलवायु का अनुभव करते हैं

  • द्वीपों के इस समूह में वनस्पतियों (flora) और जीवों (fauna) की एक महान विविधता है।
  • ये द्वीप भूमध्य रेखा (island equator) के करीब स्थित हैं और भूमध्यरेखीय जलवायु का Experience करते हैं।
  • इस islands में वनस्पतियों (flora) और जीवों (fauna) की एक बड़ी विविधता है। घने जंगल का आवरण।

Physical Features of India PPT |भारत की भौतिक विशेषताएं पीपीटी

Credit: indrani97321

Physical Features of India – Important Questions |भारत की भौतिक विशेषताएं – महत्वपूर्ण प्रश्न

उत्तरी मैदान का सबसे उपजाऊ भाग कौन सा है?

खादर (Khadar).

हिमालय का कौन सा भाग सिंधु और सतलुज के बीच स्थित है?

पंजाब हिमालय (Punjab Himalayas).

ब्रह्मपुत्र का मैदान कहाँ स्थित है?

असम राज्य (The state of Assam).

चिल्का झील कहाँ स्थित है?

पूर्वी तट (Eastern Coast).

मालाबार तट को भी संदर्भित किया जाता है:

दक्षिणी खिंचाव (Southern Stretch).

हिमालय की सबसे बाहरी श्रेणी को क्या कहते हैं?

शिवालिक (Shiwalik).

पश्चिमी घाट की सबसे ऊँची चोटी कौन सी है ?

अनामुडी(Anamudi).

निकोबार कहां में स्थित है ?

दक्षिण (South).

हिमाद्री का मूल भाग किससे मिलकर बना है?

ग्रेनाइट (Granite).

झेलम किसकी सहायक नदी है?

सिंधु (The Indus)

Conclusion |निष्कर्ष

भारत की भौतिक विशेषताएं या physical features of india बहुत विविध हैं और देश के कोने-कोने में फैला हुआ है।

हमे आशा है कि हमारी ये post आपको जरूर पसंद आई होगी अपनी openion comment बॉक्स में नीचे दे सकते हैं।

Leave a Comment

2 × 3 =

x
error: Content is protected !!