What is Yoga in hindi? importance of yoga| योग क्या है?- अर्थ,महत्व,लाभ

पिछले कुछ समय में योग का trend काफ़ी बढ़ा है, इसके विभिन्न लाभों के कारण medical professional और celebrities भी regular योग practice कर रहे हैं और इसकी सिफ़ारिश कर रहे हैं। जबकि कुछ लोग योग को केवल एक trendy fashion मानते हैं, अन्य लोग जो व्यायाम को अन्य रूप में देखते हैं वह उन्हें ऐसे benefits देगा जिनकी उन्होंने कभी कल्पना नहीं की है।

इससे पहले कि हम आपको योग का महत्व (Importance of Yoga), योग के फायदे या योग के लाभ (benefits of yoga in hindi) बताएं उससे पहले यह समझना आवश्यक है कि वास्तव में योग क्या है? और योग का इतिहास, अंतरराष्ट्रीय योग दिवस कब और क्यों मनाया जाता है?

Table of Contents

What is Yoga in hindi? | योग क्या है? | योग की परिभाषा | योग का अर्थ

योग का अर्थ ‘एकजुट होना या संघ या एकीकृत करना’ है, यह संस्कृत शब्द ‘युज’ से निकाली गई है, वैसे तो योग कोई धर्म नहीं है और ना ही योग आपके शरीर को अजीब आकार में मोड़ने और सांस रोककर रखने के लिए है, योग (Yoga) जीने का ऐसा तरीका है जिसका उद्देश्य स्वस्थ शरीर में स्वस्थ दिमाग की ओर है।

योग क्या है? योग का महत्व और लाभ

मनुष्य एक शारीरिक, मानसिक और आध्यात्मिक प्राणी है; योग भारत में आयुर्वेद में बताए गए तीनों के बीच संतुलन विकसित करने में Help करता है। बहुत ही सरल शब्दों में अपने तन, मन और श्वास का ध्यान रखना ही योग (Yoga) है।

व्यायाम के अन्य रूप, जैसे aerobics, केवल physical wellbeing का आश्वासन देते हैं। इन अभ्यासों का आध्यात्मिक या सूक्ष्म शरीर के सुधार से बहुत कम लेना-देना है।

योग के संस्थापक, पतंजलि (Patanjali) ने कहा, “स्थिरं सुखं आसनम।” इसका meaning यह है कि जो पूरी तरह स्थिर और आरामदेह हो या आसन दृढ़ और अनुकूल प्रतीत होता है वही आसन है। आपको यह जानकर अचंभा हो सकता है कि आसन योग की क्रिया का एक पहली चरण है।

योग विभिन्न श्वास अभ्यासों, योग मुद्राओं (yoga mudra) (आसनों) और ध्यान के माध्यम से आपके मन और श्वास या शरीर और आत्मा के साथ सामंजस्य स्थापित करता है। जब आप अपने आप को इस प्रकार समायोजित करते हैं कि आपके भीतर सब कुछ brilliantly कार्य करता है, तो आप अपनी सर्वोत्तम क्षमताओं को बाहर निकालेंगे और आप प्रफुल्लित और एनरजेटिक हो जाएंगे।

International Yoga Day |अंतरराष्ट्रीय योग दिवस

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने 27 सितंबर, 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपने भाषण के दौरान ‘योग दिवस‘ का प्रस्ताव रखा था। भारत के मसौदा प्रस्ताव तब रिकॉर्ड 177 सदस्य देशों द्वारा अनुमोदित किया गया था। 21 जून 2015 को World ने पहला अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया। अपने UNGA भाषण के दौरान, प्रधान मंत्री मोदी ने कहा, “योग भारत की पुरानी परंपरा का एक अमूल्य योगदान है।”

यह मन-शरीर की एकता (mind-body unity), विचार-कार्य सद्भाव (thought-action harmony), संयम और पूर्ति (restraint and fulfillment), मनुष्य और प्रकृति (man and nature) के बीच सामंजस्य और स्वास्थ्य और कल्याण (health and wellness) के लिए एक समग्र दृष्टिकोण का प्रतिनिधित्व करता है। यह व्यायाम करने के बारे में नहीं है, बल्कि अपने आप को, दुनिया और प्रकृति के साथ एकता की भावना की खोज करने के बारे में है।

Themes of International Yoga Day

YearTheme 
2015Yoga for Harmony and Peace
2016Yoga for the achievement of the Sustainable Development Goals
2017Yoga for Health
2018Yoga for Peace
2019Yoga for Heart
2020Yoga for Health – Yoga at Home
2021Yoga at Home and Yoga with Family

History of Yoga | योग का इतिहास

योग सबसे पहले सिंधु-सरस्वती सभ्यता में develop हुआ था और इसे सबसे पुराने वेद, ऋग्वेद में शामिल किया गया था। इसके बाद, पतंजलि का योग सूत्र योग पर पहला व्यवस्थित ग्रंथ था जिसने इसे और इसके सिद्धांतों को व्यवस्थित किया।

आधुनिक काल (Modern Era) ने उपनिवेश की शुरुआत के साथ पश्चिमी सभ्यता (western civilization) में अपना आगमन देखा। जैसे-जैसे यह शब्द फैला, योग ने दुनिया भर में अधिक ध्यान आकर्षित करना शुरू कर दिया

और इस क्षेत्र में कई प्रमुख हस्तियां सामने आईं जिन्होंने योग को अपनी built-in capability के लिए बढ़ावा दिया। वृक्षासन, अपानसन, सिरसासन, सर्वांगासन, ताड़ासन आदि जैसे कुछ आसन अब हमारे जीवन का Part बन गए हैं। इस प्रकार “योग का महत्व” श्वास तकनीक के साथ आसनों का इस्तेमाल करने में है।

Importance of Yoga | योग का महत्व

हठ योग (hatha yoga pradipika) और इसकी कई शाखाएं (branches) (अष्टांग योग, अयंगर योग, बिक्रम योग, यिन योग, कुंडलिनी योग) आपको complete unity प्राप्त करने में मदद कर सकती हैं, जो इस बात पर Depend करता है कि आप क्या पसंद करते हैं और Practice के माध्यम से आप जिन समस्याओं को हल करना चाहते हैं। हमारे जीवन में कुछ महत्वपूर्ण योग के महत्व या योग के फायदे नीचे दिए गए हैं:

  1. Improves brain function (मस्तिष्क समारोह में सुधार करता है)
  2. Reduced stress levels (तनाव के स्तर में कमी)
  3. Changes gene expression (जीन अभिव्यक्ति को बदलता है)
  4. Increases flexibility (लचीलापन बढ़ाता है)
  5. Lowers blood pressure (रक्तचाप कम करता है)
  6. Improves lung capacity (फेफड़ों की क्षमता में सुधार करता है)
  7. Improves concentration and focus (एकाग्रता और फोकस में सुधार करता है)
  8. Helps in achieving calmness (शांति प्राप्त करने में मदद करता है)
  9. Builds self-control (आत्म-नियंत्रण बनाता है)
  10. Boosts Immunity Levels (प्रतिरक्षा स्तर को बढ़ाता है)
  11. Alleviates anxiety (चिंता को कम करता है)
  12. Improves blood circulation (रक्त परिसंचरण में सुधार करता है)
  13. Allows self-acceptance (आत्म-स्वीकृति की अनुमति देता है)
  14. Improves sleep cycle (नींद के चक्र में सुधार करता है)
  15. Alleviates chronic back pain (पुराने पीठ दर्द को कम करता है)
  16. In diabetics, it lowers blood sugar levels (मधुमेह रोगियों में, यह रक्त शर्करा के स्तर को कम करता है)
  17. Enhances sense of equilibrium (संतुलन की भावना को बढ़ाता है)
  18. Bone strength (हड्डियों की ताकत)
  19. Helps in weight management (वजन प्रबंधन में मदद करता है)
  20. Reduces the chance of heart disease (हृदय रोग की संभावना को कम करता है)

Benefits of yoga in hindi |योग के फायदे | योग के लाभ

एक अभ्यास के रूप में वैसे तो योग के लाभ असंख्य हैं जो किसी व्यक्ति को शारीरिक और मानसिक दोनों रूप से सकारात्मक Influence करते हैं। चाहे वह आपके रक्तचाप को कम करना हो या आपकी दर्द सहनशीलता को बढ़ाना हो, नीचे हमने ऐसे योग के फायदे या योग के लाभ या Benefits of yoga in hindi बताये हैं जिन्हें आपके जानने से आपको फायदा होने वाला है-

Improves blood circulation (रक्त परिसंचरण में सुधार करता है)

योग आपके रक्त परिसंचरण (blood circulation) में सुधार करता है। इसका अर्थ है पूरे शरीर में ऑक्सीजन (oxygen) और पोषक तत्वों (nutrients) का बेहतर परिवहन करता है। जिससे बेहतर रक्त प्रवाह (better blood flow) स्वस्थ अंगों और चमकती त्वचा (yoga for glowing skin) आपको मिलती है।

Lowers blood pressure (रक्तचाप कम करता है)

Regularly योग करने से शरीर में रक्त संचार बेहतर होता है। साँस लेने के व्यायाम का अभ्यास रक्तचाप को नियंत्रित करने और high stress levels को कम करने में Help कर सकता है। इस प्रकार हृदय की कार्यप्रणाली में काफी सुधार होता है क्योंकि blood circulation में वृद्धि होती है। रक्त के प्रवाह में वृद्धि से ऊतकों (tissues) में oxygen level बढ़ जाता है, जिससे आपका रक्तचाप कम (lower blood pressure) हो जाता है।

Increases Immunity (प्रतिरक्षा बढ़ाता है)

योग आपके शरीर की हर कोशिका (cell) को ठीक करता है योग और रोग प्रतिरोधक क्षमता (immunity) साथ-साथ चलते हैं। जैसे-जैसे योग शरीर की हर कोशिका को ठीक करने और बढ़ाने की दिशा में Work करता है, आपका शरीर अपने आप अधिक प्रतिरक्षा (immunity) बन जाता है। जिससे आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता ( immunity increase ) बढ़ती है। जिससे आपके शरीर को अधिक immunity बनने में Help मिलती है।

यह आपके फेफड़ों की क्षमता (lung capacity) में सुधार करते हुए आपके शरीर पर तनाव के प्रभाव (effects of stress) को कम करता है। यह आपके शरीर के लसीका तंत्र (lymphatic system) को किसी भी विषाक्त पदार्थ (toxic substances) को बाहर निकालने के लिए भी उत्तेजित करता है। यह आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली (Defence system) को बेहतर तरीके से काम करने में Help करता है।

Improves sleep (नींद में सुधार करता है)

योग आपके दिमाग को पूरी तरह से शांत करने में Help करता है। यह आपको अनावश्यक तनावों (unnecessary stresses) पर कम करने में Help करता है, इस प्रकार नींद में सुधार करता है, जिससे बेहतर नींद आती है।

एक बार जब आप नियमित तौर पर योग और ध्यान का नियमित अभ्यास Start करते हैं तो आप देखेंगे कि आपकी सर्कैडियन लय स्थिर (circadian rhythm stable) हो गई है।

Improves concentration and focus (एकाग्रता और फोकस में सुधार करता है)

हर दिन योग करने से अंततः बेहतर एकाग्रता !ultimately better concentration) आएगी और 7 Week से भी कम समय में योग अभ्यास करने से आप खुद को और अधिक प्रेरित पाएंगे।

यहां तक ​​कि basic yoga practice का अभ्यास करने से मन और इंद्रियों को आराम मिल सकता है। एक शांत और स्वस्थ दिमाग बेहतर ध्यान केंद्रित करने में Help करता है। एकाग्रता में सुधार के लिए एक समय में एक चीज पर ध्यान केंद्रित करने की क्षमता (ability to concentrate) अनिवार्य है।

जबकि मनोवैज्ञानिकों (psychologists) द्वारा लेजर की तरह फोकस और एकाग्रता विकसित करने के लिए भावनात्मक अभ्यास (emotional exercise) निर्धारित किए गए हैं, Science इस बात का गवाह है कि हर दिन योग के लिए एक घंटे देंने से बेहतर कुछ भी नहीं होता है।

Builds self-control (आत्म-नियंत्रण बनाता है)

योग आपको आत्मस्वीकृति और self-control सिखाता है। जिस तरह आप योग में अपने शरीर और गतिविधियों को control करते हैं, उसी तरह आप अपने जीवन के अन्य सभी पहलुओं (aspects) को भी control कर सकते हैं। योग आपको अपने life के हर पहलू से अधिक जुड़ाव महसूस करने में Help करता है और आपके जीवन में अधिक संतुलन लाता है।

Helps in achieving calmness (शांति प्राप्त करने में मदद करता है)

अनावश्यक तनाव (unnecessary stress) से मुक्त जीवन की बेहतर गुणवत्ता (Better Quality) एक ऐसी चीज है जिसे हम सभी प्राप्त करना चाहते हैं। Scientist studies से पता चला है कि तीन महीने तक हर दिन योग का अभ्यास कैसे तनाव हार्मोन के स्राव (stress hormone secretion) को कम कर सकता है।

ध्यान को श्वास के साथ मिलाने से शांति का experience होता है। कम Tension और anxiety level हमारे मानसिक स्वास्थ्य पर एक बेहतर effect डालता है, जिसके परिणामस्वरूप जीवन की गुणवत्ता में सुधार होता है।

Improves Sexuality (कामुकता में सुधार करता है )

योग आपके Self-confidence को बढ़ाता है और complete rest और अधिक नियंत्रण प्रदान करता है। यह आपकी कामुकता में सुधार करता है।

Increases Awareness Levels (जागरूकता के स्तर को बढ़ाता है)

Regular yoga practice आपको अपने दिमाग को नियंत्रित करने में Help करता है। आप उन विचारों के बारे में अधिक जागरूक हो जाते हैं जो आपको अंदर से परेशान करते हैं। अपने मन को negative या uncontrollable विचारों से प्रभावित होने देने के बजाय, आप अपने दिमाग की कार्यप्रणाली को नियंत्रित करते हैं।

आपकी वृत्ति (instinct) मजबूत है और आपकी इंद्रियां (senses) clarity प्राप्त करती हैं जिससे आप चीजों को एक अलग दृष्टिकोड़ से देख सकते हैं, अपने विचारों की reality को समझ सकते हैं, उनकी आकलन गंभीरता से कर सकते हैं और उसके अनुसार Work कर सकते हैं। नियमित योग अभ्यास के साथ आने वाला शरीर-मन का तालमेल (synergy) आपके Awareness Level को बढ़ाता है और हमारे अस्तित्व के सभी पहलुओं में शामिल होता है।

Reduces Inflammation illnesses (सूजन संबंधी बीमारियों को कम करता है)

जबकि मानसिक स्वास्थ्य के लिए योग के लाभों को जाना जाता है, स्वास्थ्य के लिए योग के लाभ पुराने सूजन की समस्या वाले लोगों तक विस्तारित होते हैं। पुरानी सूजन के परिणामस्वरूप अक्सर गठिया, हृदय विकार की समस्याएं, (heart disorder problems), मधुमेह और कैंसर(diabetes and cancer) हो सकता है। नियमित रूप से अभ्यस करने से सूजन पर उपचारात्मक प्रभाव (therapeutic effect) पड़ता है, इस प्रकार, संबंधित और परिणामी शारीरिक बीमारियों से पीड़ित होने के risk को कम करता है।

Increasing Core Strength (कोर ताकत बढ़ाता है)

जब आपका कोर मजबूत होता है तो आपका शरीर मजबूत होता है। आपका कोर न केवल आपके शरीर का वजन रखता है बल्कि चोटों के प्रति आपके प्रतिरोधक स्तर को भी बढ़ाता है और आपको बेहतर तरीके से ठीक करने में Help करता है। नियमित योगाभ्यास आपके कोर को मजबूत, लचीला और स्वस्थ बनाता है।

Delays Premature Aging (देरी समय से पहले बुढ़ापा)

शान से उम्र क्यों नहीं और समय से पहले क्यों नहीं? हां, योग आपको विषाक्त पदार्थों (toxins) और मुक्त कणों को डिटॉक्स( detox free radicals) करने और खत्म करने में Help करता है। यह, अन्य लाभों के अलावा, उम्र बढ़ने में देरी करने में भी मदद करता है। योग तनाव को भी दूर करता है जो एक और कारक है जो उम्र बढ़ने को मात देता है।

साथ ही साथ मधुमेह, हृदय रोग, श्वसन रोगों जैसी पुरानी स्थितियों के बढ़ने की संभावना को भी कम करता है जो आपके long term Health को प्रभावित करते हैं।

Relief from Anxiety (चिंता से राहत)

Daily चिंता से निपटना थकाऊ हो सकता है। चिंता विकारों (anxiety disorders) से पीड़ित कई लोगों ने खुलासा किया है कि कैसे हर दिन कुछ योग मुद्रा का अभ्यास करने से चिंता के लक्षण कम हो गए हैं जिनसे निपटना मुश्किल था।

‘कैमल पोज़'(camel pose) ने शरीर में blood circulation में सुधार किया जिससे मन और शरीर दोनों पर उपचारात्मक प्रभाव पड़ा। ‘ब्रिज पोज’ (bridge pose) का दिमाग पर शांत प्रभाव पड़ा जबकि आसान ‘बटरफ्लाई पोज'(butterfly pose) ने unwanted stress को दूर करने में सहायता की।

Improvement in Gastrointestinal Health (उपापचय बढ़ाता है)

Regularly योगाभ्यास करने से पाचन तंत्र सक्रिय(digestive system active) होता है और पेट से संबंधित अन्य रोग जैसे अपच और गैस समाप्त हो जाती है। इसलिए, पुरुषों और महिलाओं दोनों में जठरांत्र (Gastrointestinal) संबंधी कार्यों में सुधार होता है। योग मेटाबॉलिज्म (metabolism) को नियंत्रित रखता है क्योंकि आदर्श वजन (ideal weight) हासिल करने के लिए balanced metabolism जरूरी है।

Boosts Immunity Levels (प्रतिरक्षा स्तर को बढ़ाता है)

यह महत्वपूर्ण है क्योंकि tension हमारी Defence system पर कहर बरपा सकता है। योग आपको आराम करने और तंत्रिका तंत्र (nervous system) में विश्राम की भावना को Boost करने में Help करता है।

शरीर पर तनाव (stress) का प्रभाव कम होने से फेफड़ों की क्षमता बढ़ती है। योग आपके शरीर को ठीक करने और उसके प्रतिरक्षा स्तर(immunity level) को बढ़ाने में सहायता करता है।

Reduces Depression (अवसाद को कम करता है)

Depression से पीड़ित कई लोगों को प्रतिदिन योग आसनों का अभ्यास करने की सलाह(advice) दी जाती है। योग के अवसाद रोधी प्रभावों (anti-depressant effects) पर जोर देने वाले कई research studies के बावजूद, बहुत से लोग मानसिक स्वास्थ्य के लिए योग के लाभों (benefits of yoga in hindi) के बारे में sure नहीं हैं। विभिन्न अध्ययनों में participants ने लगभग दो सप्ताह तक प्रतिदिन योग का अभ्यास करने पर अवसाद के लक्षणों(symptoms of depression) में कमी देखी है।

एक सामान्य योग मुद्रा जिसे ‘सुदर्शन क्रिया‘ कहा जाता है, जो लयबद्ध श्वास(rhythmic breathing) पर केंद्रित है, chronologically Influences अवसादग्रस्त रोगियों (depressed patients) में प्रभावी है।

Improves Breathing (श्वास में सुधार)

क्या आपने कभी ध्यान दिया है कि आप कैसे सांस लेते हैं? योग आपको अपनी श्वास पर ध्यान केंद्रित करने में मदद कर सकता है। साँस लेने के व्यायाम (प्राणायाम) आपको साँस लेने की बेहतर Technique सिखा सकते हैं जिसके कई शारीरिक और मानसिक लाभ हैं।

सांस लेने के कुछ व्यायाम आपके तंत्रिका तंत्र (nervous system) पर शांत प्रभाव डालते हैं और यहां तक ​​कि एलर्जी के रोगियों (allergy patients) को उनके नाक के मार्ग (way) को साफ करने में Help करते हैं। साँस लेने के इन नियमित व्यायामों के उपचार प्रभावों ने फेफड़ों की बीमारी (lung disease), हृदय विकार(heart disorder) या अस्थमा (asthma) से पीड़ित लोगों की भलाई में बहुत योगदान दिया है।

Helps in Joint and Back Pain (जोड़ों और पीठ दर्द में मदद करता है)

लगातार जोड़ों और पीठ दर्द की समस्याओं के इलाज (Treatment Yoga for joint and back pain problems) के लिए योग एक प्रभावी तरीका है। कई चिकित्सक न केवल दर्द का इलाज करने के लिए बल्कि दर्द के साथ लगातार पीड़ा से जुड़े तनाव के लिए भी एक necessary medical के रूप में Regular yoga practice की सलाह देते हैं।

simple pose जिसमें बैकबेंड स्ट्रेच (backbend stretch) शामिल हैं, रीढ़ को गति (spine movement) देते हैं जबकि मांसपेशियों की गति (muscle movement) शरीर में तनाव को मुक्त करती है।

पारंपरिक योग मुद्राएं (traditional yoga postures) अगर सही तरीके से की जाएं तो कायाकल्प हो सकता है। ‘डाउनवर्ड-फेसिंग डॉग योग’ रक्त परिसंचरण में सुधार करता है और सिर और अंगों में रक्त के प्रवाह को easy बनाता है। ‘Downward-Facing Dog Yoga’ का अभ्यास करने से भी पीठ दर्द से राहत मिलती है और ताकत में सुधार होता है।

Helps in Stimulation of Internal Organs (आंतरिक अंगों की उत्तेजना में मदद करता है)

भावनात्मक तनाव (emotional stress) के साथ शारीरिक विकारों के परिणामस्वरूप नींद की गुणवत्ता (sleep quality) खराब हो सकती है। योग को अपनी routine में शामिल करना अधिकांश स्वास्थ्य समस्याओं का रामबाण इलाज हो सकता है, जिससे बेहतर नींद आती है।

नियमित योगाभ्यास आपकी नसों को आराम (relax nerves) देता है और नींद की गड़बड़ी को कम करता है। योग की एक daily dose आपको चिंता, अवसाद, पुराने दर्द और तनाव से दूर कर सकती है जो अनिद्रा और नींद की अन्य समस्याओं का कारण बनती है।

Instils New Energy in You (आप में नई ऊर्जा का संचार करता है)

योग आपके मन और शरीर को refresh feel कराने की क्षमता रखता है। जो लोग रोजाना योग करते हैं, वे yoga session के बाद energetic feel करते हैं।

आप हर yoga session के बाद energetic feel करेंगे। यह आपके मन और शरीर को फिर से alive करता है, आप में नई ऊर्जा का संचार (transmission of new energy) करता है। हर योग सत्र आपके शरीर को ताजगी से भर देगा, आपके mood को boos कर देगा।

Decreases Pulse Rate (पल्स रेट घटाता है)

योग तनाव को कम करता है और आपके शरीर को आराम करने में Help करता है, जिससे आपकी pulse rate कम हो जाती है। कम पल्स रेट(low pulse rate meaning) का मतलब है कि आपका दिल स्वस्थ है और per beat अधिक रक्त पंप (blood pumps) कर सकता है।

चूंकि योग आपके शरीर में ऑक्सीजन को बेहतर बनाता है, यह हृदय गति को कम (reduces heart rate) करने में Help करता है जिसके परिणामस्वरूप बेहतर कार्डियोवैस्कुलर सहनशक्ति भी होती है।

Better Cardiovascular Endurance (बेहतर कार्डियोवैस्कुलर सहनशक्ति)

योग शरीर में oxygen को बेहतर बनाता है और heart rate को भी कम करता है। इसका परिणाम बेहतर कार्डियोवैस्कुलर सहनशक्ति होता है।

Reduces Stress and Uplifts your mood (तनाव को कम करता है और आपके मूड को ऊपर उठाता है)

नियमित रूप से योग का अभ्यास करने से आपका mood तुरंत अच्छा हो जाता है क्योंकि यह आपके शरीर को fresh feel कराता है और ताजगी से भर देता है।

जब आप अपनी योगा मैट (yoga mat) पर होते हैं, तो आप अभ्यास पर ध्यान केंद्रित करते हैं। इसका मतलब है कि आपका सारा ध्यान हाथ में लिए गए मामले पर केंद्रित है, और आपका दिमाग धीरे-धीरे उस stress और परेशानियों को दूर कर देता है जो परेशान कर रही हैं।

Brings Positivity in Life (जीवन में सकारात्मकता लाता है)

जब आप नियमित रूप से योग करते हैं, तो आपके तंत्रिका तंत्र में पाए जाने वाले सभी हार्मोन को स्थिर करता हैं और आपको शांत करने में Help करते हैं। योग आपको अपने inner self से जुड़ने में मदद करता है, जो स्पष्टता लाता है और आपको अपने जीवन के लक्ष्यों पर Concentrate करने के लिए प्रोत्साहित करता है। आप अपने life को एक नए Passion और energy के साथ देखना शुरू करते हैं।

“Yoga helps when all else fails” योग उत्साही और कई स्वास्थ्य पेशेवरों के बीच एक आम कहावत है। यह cancer जैसी बीमारियों से पीड़ित रोगियों के लिए विशेष रूप से सच है जो अत्यधिक दर्द, शारीरिक परेशानी और अवांछित भावनात्मक संकट का कारण बन सकते हैं।

गंभीर विकारों के इलाज (treatment of serious disorders) के दौर से गुजर रहे कई लोगों के लिए, योग को एक प्रभावी, सहायक चिकित्सक के रूप में माना जाता है जो दर्द को कम करता है और बहुत जरूरी शांति की भावना (sense of peace) पैदा करता है, इस प्रकार, कई लोगों के जीवन की समग्र गुणवत्ता में सुधार होता है।

Conclusion

योग लगभग हर समस्या की दवा है। जैसा कि आप योग का अभ्यास करते हैं, यह न केवल आपके physical body को बेहतर बनाने में Help करता है बल्कि आपकी आंतरिक शांति (inner peace) बनाए रखने और आपके दिमाग को आराम देने में भी Help करता है। इस प्रकार, ऐसा कुछ भी नहीं है जिससे योग Help नहीं करेगा। इसके अलावा, योग केवल एक दिन का अभ्यास नहीं है, यह एक lifelong commitment है।

हमे उम्मीद है कि हमारी ये post आपको जरूर पसंद आई होगी आप अपना openion हमारी comment box में नीचे डस्ट हैं।

Leave a Comment

3 × 2 =

x
error: Content is protected !!