क्रिकेट बेटिंग से जुड़े टर्म्स जिसे जानना क्रिकेट सट्टेबाज के लिए जरूरी

क्रिकेट बैटिंग करने के लिए कुछ टर्म्स को उपयोग किया जाता हैं, जिनको जानना हर क्रिकेट बेटिंग शुरू करने के लिए जरूरी हैं।

भारत में क्रिकेट बेटिंग लीगल ना होने के बावजूद भी कई लोग बेटिंग करते हैं। साथ ही भारत में विदेशी ऑनलाइन बुकमेकर लीगल तरीके से काम कर रहे हैं इसलिए ऑनलाइन क्रिकेट बेटिंग की मांग भी दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। क्रिकेट सट्टेबाजी साइट का प्रचलन चल रहा है।  बेस्ट भारतीय क्रिकेट बैटिंग साइट पर सट्टेबाजी करना ज्यादा सेफ माना जाता है। एक तरफ जहां भारत में क्रिकेट लोकप्रिय है, वही इसपर सट्टेबाजी करना आज आसान हो चुका है।

क्रिकेट बैटिंग टिप्स फ्री में

 बेटिंग साइट क्रिकेट सट्टेबाजी के लिए काफी प्रसिद्ध है। इसके साथ क्रिकेट बेटिंग टिप्स और ऑनलाइन क्रिकेट बेटिंग की सुविधा दी जा रही है, जिससे भारतीय पंटर्स को बैटिंग करने और इसके टर्म्स समझने में काफी आसानी होती है। क्रिकेट बैटिंग टिप्स फ्री में भी प्राप्त कर सकते है,  यदि आप पहली बार क्रिकेट बैटिंग करने के बारे में  विचार कर रहे है तो आपको कुछ बेसिक टर्म्स समझना चाहिए। तो चलिए आपको बेटिंग से जुड़ी पॉपुलर टर्म्स के बारे में बताते हैं।

1. क्रिकेट सट्टेबाजी m बुकमेकर क्या है ?

भारत में ऑनलाइन क्रिकेट बेटिंग के दौरान इस टर्म का अधिक नाम उपयोग किया जाता है। जो कंपनी जो बेटिंग की सुविधा प्राप्त कराती है, उसे बुकमेकर कहा जाता है। बुकमेकर प्रकार के 2 प्रकार हो सकते हैं, ऑनलाइन बुकमेकर और भूमि आधारित  बुकमेकर। ऑनलाइन बुकमेकर अपनी सभी सुविधाएं ऑनलाइन देते हैं,

जबकि ऑफलाइन आधारित बुकमेकर बैटिंग स्टॉल या क्षेत्रीय कार्यालयों के सुविधा देती है। उदाहरण के तौर पर Betway, Bet365, PariMatch, यह सब भारत में ऑनलाइन बुकमेकर हैं, जबकि यहां पर भूमि आधारित बुकमेकर्स को काम करना लीगल नही है , इसकी इजाजत नहीं है।

2. बुकी (Bookie) क्या  है ?

भारत में बेटिंग को ऑर्गेनाइज करने वाले व्यक्ति को बुकी कहा जाता है। बुकी का काम पंटर्स के द्वारा लगाई गई बेट को एक्सेप्ट करना होता है और पैसे का लेनदेन की जिम्मेदारी इसी की होती  है। इसलिए  विदेशों में बेटिंग कंपनियों को भी बुकी बोला जाता है,

क्योंकि वे आपको ऑनलाइन बेटिंग से जुड़ी ऐसी सुविधा देते हैं। विदेशों में ऑनलाइन बेटिंग कंपनी को ऑनलाइन बुकी और ऑफलाइन काम करने वालों को सिर्फ बुकी बोला जाता है।

3. पंटर/ प्लेयर/ बेटर का अर्थ क्या है?

किसी भी बुकमेकर या बुकी के पास बेटिंग करने वाले व्यक्ति को पंटर या बेटर  नाम से जान जाता है। भारत में बेट लगाने वाले लोगों के किए पंटर या प्लेयर कहा जाता है, जबकि विदेशों में इन शब्दों के साथ साथ बेटर (Bettor) शब्द का भी इस्तेमाल होता है।

4. भाव  क्या होता है ?

किसी भी मैच में मजबूत और कमजोर टीम के अनुसार भाव तय किए जाते है। मैच से शुरू होने से पहले एक भाव दिया जाता है, लेकिन टॉस होने के बाद, प्लेइंग इलेवन घोषित होने के बाद या मैच में हो रही घटनाओं के अनुसार मैच के भाव  घटते बढ़ते रहते हैं। भारत में बेटिंग साइट पर साइन अप बोनस के साथ अच्छे भाव भी प्राप्त होते हैं।

5.क्वार्टर, आधी गड्डी, एक गड्डी, आधी पेटी, एक पेटी, आधे खोखा और एक खोखा क्या होता है ?

भारत में इन शब्दों का अधिक इस्तेमाल होता है। क्वार्टर का मतलब ₹2,500 रूपए से होता है, आधी गड्डी का मतलब ₹5 हजार रुपए से , एक गड्डी का अर्थ ₹10 हजार से, और  आधी पेटी का मतलब ₹50 हजार रुपय से, एक पेटी का मतलब ₹1 लाख से होता है। वही आधा खोखा का मतलब ₹50 लाख रुपय  और एक खोखा का अर्थ ₹1 करोड़ रुपय से होता है।  

6. खाई और लगाई (Back & Lay) क्या होता है ?

यदि आप क्रिकेट पर बेटिंग करने जा रहे हैं तो आपको यह समझना बहुत ही जरूरी है कि मैच में बेट लगाने के लिए खाई और लगाई (Back & Lay) शब्दों का बार-बार इस्तेमाल किया जाता है ,इसका अर्थ क्या है। बता दें कि किसी फेवरेट टीम पर बेट लगाने पर इसे लगाई और नॉन फेवरेट टीम पर बेट लगाने पर आप खाई शब्द का इस्तेमाल होता है। 

उदाहरण के लिए भारत और इंग्लैंड का मैच चल रहा है जिसमें भारत फेवरेट और इंग्लैड नॉन फेवरेट टीम  है। ऐसी स्थिति में यदि आप फेवरेट टीम भारत पर बेट लगाना चाहते हैं तो आपको लगाई (Back) करनी होगी, जबकि इंग्लैड की जीत पर बेट लगाने के लिए खाई (Lay) करनी होगी। 

7. लॉस कट (Loss Cut)/बुक सेट (Book Set) क्या होता है ?

मान लीजिए कि आपने जिस टीम पर बेट लगाई है और वह  जीत की ओर बढ़ रही है। सही स्थिति में होने के कारण वह अच्छे से फेवरेट हो गई है और भाव काफी नीचे आ गया है, तो किसी भी जोखिम से बचने के लिए आप  बुक सेट कर सकते  है। क्योंकि क्रिकेट मैच में बाजी कभी भी पलट सकती है और कभी भी मैच कोई भी जीत सकता है।

बता दें कि क्रिकेट में कभी-कभी 3 पैसे पर नॉन फेवरेट टीम को जीतते भी देखा गया है। इसलिए यदि आप किसी टीम पर कुछ मनी कन्फर्म जीत रहे हैं, तो भाव नीचे आने पर तुरंत बुक सेट कर लेना चाहिए, जिससे  यदि मैच का रुख पलट गया तो आपको कोई नुकसान ना हो। 

8. फैंसी बेट्स (Fancy Bets) क्या है?

ऑनलाइन क्रिकेट बेटिंग के दौरान सेशन के अलावा भी कई फैंसी बेट्स उपलब्ध होती हैं, जैसे आपको एक ओवर में रन कितने रन बनेंगे, किसी एक निर्धारित ओवर में कितना रन बनेगा,गेंदबाज कितना रन खर्च करेगा, बल्लेबाज कितना रन बनाएगा, अगला विकेट कितने रन से पहले या बाद में गिरेगा, अगला विकेट कैच से गिरेगा या नहीं,, इत्यादि बेट लगाने के लिए मिलते है। 

9. सेशन में Yes/Not  क्या है ?

किसी भी क्रिकेट मैच में  6 ओवर, 10 ओवर, 15 ओवर और 20 ओवर के सेशन देखने को मिलते  हैं। किसी मैच में 6 ओवर का सेशन 45-46 के लिए  है और वही आपको लग रहा है कि 46 या उससे अधिक रन बन जाएंगे तो इसके लिए 46 Yes करना होता है। इसके बाद यदि 46 या उससे अधिक रन बना तो आप यह इस बेट को जीत जाएंगे, आपको लाभ होगा। 

इसके अलावा यदि आप सोच रहे हैं कि 45 से कम इसको बनेगा तो इसके लिए आपको 45  not  करना होगा। ऐसी स्थिति में यदि 45 या उससे अधिक रन बन गए तो आप यह  बेट हार जाएंगे। इसको ऑनलाइन बैटिंग के दौरान ज्यादा इस्तेमाल किए जाते है ।

Leave a Comment

three + two =