Duck in Cricket: IPL में डक की बाढ़, कोहली-राहुल सबसे ज्यादा शिकार, जानिए क्या है डायमंड, गोल्डन और रॉयल डक

इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) 2022 सीजन में डक (जीरो पर आउट) की बाढ़ सी आ गई है. इस बार विराट कोहली एक बार रॉयल और 2 बार गोल्डन डक का शिकार हुए हैं. इनके अलावा राशिद खान, केएल राहुल और अनुज रावत भी 3-3 बार खाता नहीं खोल सके हैं.  

इस सीजन में केएल राहुल और केन विलियमसन डायमंड डक का शिकार हुए हैं. विराट कोहली एक बार रॉयल (प्लेटिनम) डक के साथ आउट हुए हैं. आपके मन में अब यह सवाल जरूर उठने लगा होगा 

Arrow

कि आखिर यह डायमंड, गोल्डन और रॉयल डक है क्या? आपको बता दें कि क्रिकेट जगत में 10 तरह की डक होती हैं. आइए जानते हैं इनके बारे में...

Arrow

किसी क्रिकेट मैच में जब कोई बैटर जीरो रन पर बगैर कोई बॉल खेले आउट होता है, तो उसे डायमंड डक कहा जाता है. यह दो ही तरह के मामले में संभव हो पाता है. पहला रन आउट और दूसरा टाइम आउट. रविवार को सनराइजर्स हैदराबाद टीम के कप्तान केन विलियमसन और शनिवार को लखनऊ सुपर जायंट्स के कप्तान केएल राहुल डायमंड डक पर आउट हुए थे. 

डायमंड डक 

Arrow

जब कोई बैटर अपनी पहली ही बॉल पर आउट होता है, तो उसे गोल्डन डक कहा जाता है. इस सीजन में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (RCB) के पूर्व कप्तान विराट कोहली तीन बार गोल्डन डक पर आउट हुए हैं. 

गोल्डन डक

Arrow

क्रिकेट मैच में जब कोई बैटर क्रीज पर आता है और दूसरी बॉल पर ही बगैर खाता खोले आउट हो जाता है, तो इसे सिल्वर डक कहा जाता हैं. 

सिल्वर डक 

Arrow

जब बैटर मैदान में उतरता है और बगैर खाता खोले तीसरी बॉल पर आउट हो जाता है, तो इसे ब्रॉन्ज डक कहा जाता है. यानी अपनी तीसरी गेंद पर जीरो बनाकर आउट होना ब्रॉन्ज डक कहलाता है. 

ब्रॉन्ज डक 

Arrow

रॉयल या प्लैटिनम डक सिर्फ ओपनर पर ही लागू होती है. दरअसल, जब कोई बैटर (ओपनर) किसी मैच की पहली बॉल पर ही बगैर रन बनाए आउट होता है, तो इस रॉयल डक कहते हैं. इसे प्लैटिनम डक भी कहा जाता है. 

रॉयल (प्लैटिनम) डक

Arrow

लाफिंग डक को क्रिकेट जगत में बेहद कम देखने को मिलती है. यदि टीम की पारी की आखिरी बॉल पर कोई बैटर बगैर खाता खोले आउट होता है, तो उसे लाफिंग डक कहा जाता है.

लाफिंग डक

Arrow

पेयर डक हमेशा टेस्ट क्रिकेट में ही लागू होती है. इसके तहत यदि कोई बैटर किसी टेस्ट मैच की दोनों पारियों में बगैर खाता खोले आउट होता है, तो इसे पेयर कहा जाता है. इसमें बैटर ने कितनी बॉल खेलीं, यह मायने नहीं रखता. 

पेयर 

Arrow

किंग पेयर डक भी टेस्ट क्रिकेट में ही लागू होती है. इसके तहत यदि कोई बैटर किसी टेस्ट मैच की दोनों पारियों में अपनी पहली बॉल पर बगैर खाता खोले आउट होता है, तो इसे किंग पेयर डक कहा जाता है. 

किंग पेयर डक 

Arrow

डायमंड और टाइटेनियम डक लगभग एक समान ही हैं. अंतर सिर्फ इतना है कि टाइटेनियम डक टीम की पारी की पहली बॉल पर मानी जाती है. यानी कोई बैटर टीम की किसी पारी की पहली बॉल पर बगैर खाता खोले और बगैर कोई बॉल खेले आउट होता है, तो उसे टाइटेनियम डक कहा जाता है. 

टाइटेनियम डक 

Arrow

गोल्डन गूज भी गोल्डन डक की तरह ही होती है. इसमें फर्क सिर्फ सीजन और मैच का होता है. यानी यदि कोई बैटर टीम के नए सीजन के पहले मैच की पहली बॉल पर बगैर खाता खोले आउट होता है, तो उसे गोल्डन गूज कहा जाता है.

गोल्डन गूज डक 

Arrow

How to watch IPL 2022 for free Hindi | आईपीएल फ्री में कैसे देखें?- IPL Free Me Kaise Dekhe

Arrow