ESR test kya hai? | ESR test in hindi -कारण, उपचार,कीमत

आज हम इस post में आपको ESR Test Kya Hai की जानकारी बताएंगे वो भी ESR test in hindi , इसके द्वारा डॉक्टर मानव शरीर में होने वाली किसी भी बीमारी को कैसे पकड़ पाता है। बहुत से लोग ESR Test meaning in hindi जानना चाहते हैं, हम उन्हें बताना चाहेंगे, तो चलिए हम आपको इस post में विस्तार से बताते हैं-

ESR Test meaning in hindi

यदि मानव शरीर में किसी भी बीमारी के लक्षण दिखते हैं तो उसकी या किसी भी बीमारी को पकड़ने या पुष्टि करने के लिए इसका इस्तेमाल करते हैं।

Esr test in hindi

ESR test in hindi | ESR kya hota hai | esr kya hai

ESR Full Form (ईएसआर फुल फॉर्म) Erythrocytes Sedimentation Rate और ESR Test Full Form In Hindi – एरिथ्रोसाइट्स सेडीमेन्टेशन रेट होता है।

असल मे ESR Test कराने का मकसद किसी विशेष या कोई बड़ी बीमारी को पकड़ना नहीं होता है और ना ही इस test के द्वारा किसी भी बीमारी को पकड़ा जा सकता है।

ESR Test से सिर्फ मानव शरीर के ESR level (ईएसआर लेवल) check किया जाता है। इससे डॉक्टर को मानव शरीर में होने वाली कुछ problem की जानकारी मिलती है और किसी बीमारी की स्थिति में esr test डॉक्टर को उस बीमारी के कारण का पता लगाने में help करता है।

ESR Test का इस्तेमाल डॉक्टर मानव शरीर मे संक्रमण (infection) और सूजन (swelling) होने से करते हैं, साथ ही साथ और कुछ बीमारी होने पर भी दूसरे test के साथ साथ इस test का इस्तेमाल कर लिया जाता है ताकि शरीर की पूरी check हो जाये और सभी प्रकार की बीमारियों का पता चल पुस्टि हो जाए।

ईएसआर ब्लड टेस्ट क्या होता है? (What is ESR Blood Test in Hindi?)

लाल रक्त कोशिकाओं (Red Blood Cells) की जांच ESR Blood Test में की जाती है, और रक्त कोशिकाओं में मिले कुछ खराबी का पता लगाया जाता है, यह एक simple ब्लड टेस्ट की तरह ही होता है, लेकिन खून का सैंपल ESR Test kit टेस्ट ट्यूब के द्वारा लिया जाता है।

Blood sample टेस्ट ट्यूब के नीचे लाल रक्त कोशिकाएँ (Red Blood Cells) जम जाती हैं। एक घण्टे के बाद जितनी कोशिकाएँ ट्यूब के नीचे जमती हैं समझ लीजिए कि उतना ही सेडिमेंटेशन रेट (sedimentation rate) बढ़ा हुआ है।

यदि मानव शरीर में कही सूजन (swelling) है तो असामान्य प्रोटीन लाल रक्त कोशिकाओं ( abnormal protein red blood cells ) के गुछे (flakes) बना देगा, जिससे लाल रक्त कोशिकाओं का वजन बढ़ जाएगा और वह जल्दी नीचे गिरने लगेगा, इसका मापन इकाई (Measurement Unit) Mm/Hr (मिलीमीटर प्रति घंटा) है, आपको कोई समस्या है की नहीं इससे डॉक्टर को पता चल जाता है।

सामान्य ईएसआर वैल्यू ( ESR Test Normal Range )

मापन इकाई Mm/Hr के इस्तेमाल से मानव के उम्र के हिसाब से उनके शरीर का ईएसआर परीक्षण नार्मल रेंज (ESR test normal range) कितने कितने होने चाहिए ये हमने बताया है आप नीचे ESR Normal Range in Hindi check कर सकते हैं। 

  • जन्म के बाद एक बच्चे का ESR 2 Mm/Hr के आस-पास होना चाहिए।
  • युवा अवस्था वाले बच्चों का ESR 2 से लेकर 13 Mm/Hr तक होना चाहिए।
  • 50 वर्ष से कम आयु के महिलाओं का ESR Normal Range 20 Mm/Hr तक होना चाहिए।
  • 50 वर्ष से ज़्यादा उम्र के महिलाओं का ईएसआर परीक्षण नार्मल रेंज 30 Mm/Hr तक होना चाहिए।
  • 50 वर्ष से कम वाले पुरुष का ESR Normal Range 15 Mm/Hr के आस-पास होना चाहिए।
  • 50 वर्ष से अधिक उम्र वाले पुरुषों की ESR Normal Range 20 Mm/Hr के आस-पास होना चाहिए।

ESR test price | ESR test cost

इस ESR Test की price शहर के हर हॉस्पिटल के हिसाब से अलग-अलग हो सकती है, लेकिन ज्यादातर ESR blood test price सस्ती और किफायती है और ESR test cost भारत के हर शहर ₹150 – ₹800 के बीच है।

ESR बढ़ने के कारण

ESR level बढ़ने के कारण बहुत से हैं जिनके बारे में आपको ज्ञात अवस्य होना चाहिए, तो चलिए हम आपको यह बताते हैं कि ये किन किन कारणों से बढ़ता है।

  • खून की कमी होने के कारण
  • किडनी की बिमारी
  • थाइराइट की समस्या होने पर
  • गठिया की समस्या होने पर
  • रूमेटिक बुख़ार में
  • जोड़ों का दर्द या जकड़न जो morning 30 मिनट से अधिक समय तक रहता है
  • सिरदर्द, विशेष रूप से कंधों में संबंधित दर्द के साथ
  • असामान्य वजन घटाना
  • कंधे, गर्दन, या neck में दर्द
  • पाचन संबंधी लक्षण, जैसे दस्त, बुखार, आपके मल में रक्त, या असामान्य पेट दर्द
  • लिंफोमा की वजह से
  • शरीर में संक्रमण (Infection) और सूजन (Swelling) का बढ़ना।

how to reduce esr in blood | ESR बढ़ने पर क्या करें

ESR लेवल के बढ़ जाने से कम करने के लिए आपको सर्वप्रथम उस problem का पता लगाना पड़ेगा। जिसके कारण आपका ESR लेवल बढ़ा हुआ है। जब यह पता चल जाए तो उसके बाद आप डॉक्टर के पास जाएं जिससे डॉक्टर आपकी समस्या का अच्छे से इलाज कर देंगे। फिर आपकी समस्या खत्म हो जाएगी तब धीरे-धीरे आपका ESR लेवल भी अपने आप ही वापस नॉर्मल हो जाएगा।

ईएसआर रेट बढ़ने से बचने के घरेलू उपाय (ESR बढ़ने पर क्या करें )

अगर आप चाहते हैं कि आपका ESR rate normal रहे तो आप अपने life में कुछ सुधार लाकर कर सकते हैं, जैसे कि हमने आपके लिए नीचे बताया है-

  • तेल मिर्च मसाले वाले और मीठा आहार कम करके
  • व्यायाम और योगा करके
  • ज्यादा पानी पिकर
  • हरी पत्तेदार सब्जी, फल खाए, हैल्थी है- टमाटर, स्ट्राबेरी, ब्लूबेरी, चेरी और संतरे, ओलिव ऑयल
  • हल्दी के सेवन से
  • मेथी से ईएसआर के लक्षणों का उपचार
  • ईएसआर के बढ़ने का उपचार नीम से- नीम के काढ़े के सेवन से
  • ईएसआर के बढ़ने का इलाज मंञ्जिष्ठा के सेवन से

Conclusion

आशा करता हूँ की आपको ESR के सभी प्रकार की जानकारी आपको मिल चुकी होगी जैसे- ESR Test Kya Hai, ESR Test meaning in hindi, ESR Full Form, What is ESR Blood Test in Hindi?, सामान्य ईएसआर वैल्यू, ESR test price, ESR बढ़ने के कारण, how to reduce esr in blood | ESR बढ़ने पर क्या करें, और ईएसआर रेट बढ़ने से बचने के घरेलू उपाय।

हमने इस post में सभी कवर किया है आशा करता हूँ आपको ये जरूर पसंद आया होगा, अगर किसी प्रकार की हेल्प चाहिए या शिकायत हो हमे अवस्य contact करें धन्यवाद।

Leave a Comment

17 − seven =

x
error: Content is protected !!